बंद करे×
Chatbot Background
chatbot
left-side नमस्ते, मुझे सही वॉटरप्रूफिंग समाधानों के साथ आपकी मदद कर पाने की ख़ुशी है
chatbot
left-side आगे बढ़ने के लिए नीचे दी गई जानकारियों को भरें
ओ टी पी एक्सपायर/अवैध्य हो जायेगा
आपके मोबाइल नंबर को सत्यापित करने के लिए ओटीपी भेजा जाएगा

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

Chatbot Hindi
Dr Fixit Preloader
एक ऐसी छत बनाएं जो बहुत आकर्षक हो - खुश घरों

नवीकरण

एक ऐसी छत बनाएं जो बहुत आकर्षक हो - खुश घरों

जिस प्रकार कोई भी दृश्य या चित्र नीले आकाश के बिना अधुरा सा लगता है उसी प्रकार एक खूबसूरत घर छत के अच्छी डिजाईन के बिना अधुरा है|

जहाँ तक बात है छत के दीवार की तो आप अधिकतर घरों में उसे सपाट या फ्लैट ही देखते होंगे जिसके बीचों बिच एक पंखा लटक रहा होता है|या कही कही आपको छत की दीवार से भव्य झूमर भी लटके हुए दिख सकते हैं| किसी भी घर के लिए अच्छा डिजाईन वो है जहाँ घर के सभी कॉम्पोनेन्ट / घटक को साथ जोड़ के रखा गया हो, और छत की दीवार के डिजाईन का उसमे महत्वपूर्ण योगदान हो| छत के दीवार की एक अच्छी डिजाईन भले ही वो बेडरूम की हो, किचन की या बाथरूम की, वो पूरी डिजाईन में एक नयापन ला देता और कमरे को अलग  लुक देता है|

फॉल्स सीलिंग डिजाईन करने के बहुत सारे फायदे भी हैं| फॉल्स सीलिंग की वजह से कमरे का वॉल्यूम / आयतन कम हो जाता है परिणामस्वरूप आपके एयर कंडीशनिंग के खर्चे कम जाते हैं|यदि आपका अपार्टमेंट शीर्ष मंजिल पर है, तो फॉल्स सीलिंग छत और कमरे के बीच हीट बफर के रूप में कार्य करती है और इस प्रकार आपके घर को ठंडा रखती है।

छत को डिजाइन करते समय आपको विभिन्न कारकों जैसे जगह की उपलब्धता, कमरे की ऊंचाई, आसपास की दीवारों और घर के डिजाइन जैसे अलग अलग विषय पर विचार करना होगा। इस तरह आप कमरे को एक अद्वितीय पहचान दे सकते हैं जो वहां जाने वाले सभी लोगों पर एक स्थायी छाप छोड़ देगा।

इसे आपके लिए और आसान बनाने के लिए, छत को डिजाईन करते समय नीचे दी गई बातों का विशेष ध्यान रखें :

1. जगह के अनुसार डिजाइन:

ये हमेशा ही सबसे महत्वपूर्ण होता है की आप उस जगह की खूबियों को समझे जिसके लिए छत डिजाईन करना है| एक छोटी सी जगह में, एक कम ऊचाई की छत से घुटन महसूस होगा जबकि बहुत अधिक ऊचाई की  छत ध्वनी वितरण या ध्वनि के प्रवाह को प्रभावित करेगा। सार्वजनिक जगहों जैसे लिविंग रूम या डाइनिंग रूम के छत की ऊचाई 12 -14 फीट स्वीकार्य है। बेडरूम जैसी निजी जगह में, 9 -10 फीट ऊंची छत अच्छी है। शौचालय के लिए, 7-8 फीट की छत स्वीकार्य हैं।

Source:https://in.pinterest.com/ 

2. थीम के साथ मेल :

यह आवश्यक है कि छत की डिजाइन घर के आंतरिक डिजाइन के थीम के साथ मेल करे। यदि पूरे इंटीरियर डिज़ाइन में फर्नीचर, पैटर्न और दीवारों में सीधी रेखाएं हैं, तो छत के लिए घुमावदार डिजाईन का चुनाव एक बुरा विचार है। उसी तरह अगर पूरा इंटीरियर डिजाईन बारीक़ हो तो छत के लिए ज्यादा भड़काऊ या अलंकृत डिजाईन का चुनाव ना करें|

Source:http://tempodadelicadeza.com

3.स्तरों को डालें

छत को डिजाईन करते वक़्त विभिन्न स्तरों को रखने से एकरसता टूट जाती है और रुचि पैदा होती है। यह छत की डिज़ाइन में गहराई भी जोड़ता है। एक ही कमरे में छत की ऊंचाइयों में अलग अलग स्तर असतत गतिविधि क्षेत्र बनाता है। यह घर को अधिक जीवंत महसूस कराएगा। छत को झुकाने के लिए सबसे अच्छी जगह कमरे के किनारों के आसपास है, यह व्यक्तिगत या छोटे-समूह गतिविधि के लिए एक स्थान भी देता है |यह आपका भोजन क्षेत्र या दीवार के साथ एक रीडिंग कॉर्नर हो सकता है। इस तरह की छोटी जानकारियांआपके डिजाइन को एक अलग लुक दे देंगी।

4.  रंग भरें और तराशें

रंग किसी भी जगह की भावना को बहुत प्रभावित करते है। सीलिंग को नीचे की तरफ दिखाने के लिए गहरे रंग से रंगे ऐसा करना जगह को भी भरा भरा दिखाता है। प्रकाश को प्रतिबिंबित करके किसी जगह को विस्तृत दिखाने के लिए हल्के रंग का उपयोग करें। सीलिंग के किनारे की दलाई को तराशना और उसमे सफ़ेद रंग भरना उस जगह को बेहद प्रभावी लुक देता है|

Source:http://dewtv.com/ 

5. सामग्री के साथ खेलें 

छत को डिजाइन करते समय, एकमात्र विकल्प जिप्सम नहीं है। आप सजावटी एमडीएफ पैनल का उपयोग कर सकते हैं जो आपको विभिन्न पैटर्न और डिजाइन के विकल्प देगा। आप छत में लकड़ी के पैनलों का उपयोग कर सकते हैं। लकड़ी का फिनिश छत को बहुत समृद्ध एहसास देता है और आसानी से साफ भी हो जाता है।

6. लाइटनिंग के साथ ग्लैमर लायें  

इसके लिए, छत के एक हिस्से को थोड़ा नीचे होना चाहिए, या तो केंद्रीय / सेंटर भाग को नीचे होना चाहिए या किनारों के साथ वाले हिस्से को नीचे होना चाहिए ताकि छत के नीचले भाग (कोव्स) के किनारे प्रकाश स्रोत स्थापित किया जा सके। इससे ऐसा प्रतीत होता है जैसे सीलिंग चमक रहा है और प्रकाश उत्सर्जित कर रहा है। इसके अलावा इन दिनों एलईडी लड़ियो के साथ किसी भी प्रकार की डिजाईन को रोशन करना आसान हो गया है| एक और लाभ यह है कि एलईडी लाइट विभिन्न प्रकार के रंगों में आती हैं। तो कोव लाइटिंग से, आपकी छत को नीले या गुलाबी या किसी अन्य रंग के रौशनी से रौशन किया जा सकता है

Source:http://www.isikbandi.net/

अपने घर के किसी स्थान पर  फॉल्स सीलिंग स्थापित करते समय, सुनिश्चित करें कि छत की दीवार में कोई दरार तो नहीं है। दरारों के माध्यम से रिसने वाला पानी फॉल्स सीलिंग को खराब कर सकता है। एक बार फॉल्स सीलिंग स्थापित करने के बाद, यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि रिसाव कहाँ से हो रहा है।

बुद्धिमानी इसी में है की आप पहले ही डॉ.फिक्सिट रूफसील से अपने छत को वाटरप्रूफ कर लें इसका उच्च फिल्म निर्माण उत्कृष्ट जल प्रतिरोध प्रदान करता है। तो, आगे बढ़ें और अपने सपनों की छत प्राप्त करें।  कमरे के बाकी हिस्सों को खूबसूरत बनाने में छत पूरक है| अंततः यह स्टाइल और तत्वों का एक सही मिश्रण है!